Smart ways to soothe sore muscles – कैसे पाएँ मांसपेशियों के दर्द से राहत, मांसपेशियों में दर्द का उपचार

शरीर की मांसपेशियों में होने वाले दर्द को अनदेखा करना वाकई एक मुश्किल काम है। बहुत ज़्यादा पैदल चलने पर अचानक मांसपेशियों में ऐंठन महसूस होने लगती है इसके अलावा बहुत ज़्यादा मात्रा में एकसरसाइज़ कर लेने की वजह से या बहुत भारी समान उठाने के कारण भी शरीर की मांसपेशियों में अचानक दर्द शुरू हो जाता है। बहुत ज़्यादा शारीरिक परिश्रम की वजह से शरीर की मांसपेशियों का अनैच्छिक संकुचन मांसपेशियों में दर्द की मुख्य वजह है।

इसके अलावा भी इस दर्द के और भी अनेक कारण हो सकते हैं। मांसपेशियों के दर्द को मसल फ़ीवर (muscle fever) के नाम से भी जाना जाता है। पेशियों का यह दर्द किसी भी तरह के अत्यधिक शारीरिक परिश्रम वाले काम के बाद 24 से 72 घंटों के भीतर अचानक बहुत ज़्यादा बढ़ जाता है, इस दौरान यह दर्द अपनी उच्च अवस्था में होता है।

हमारा शरीर हमारे रोज़ की शारीरिक गतिविधियों का अभ्यस्त होता है। हम नियमित रूप से जो परिश्रम करते हैं, उसमें एक निश्चित मात्रा में मांसपेशियों में संकुचन और विश्राम मिलता रहता है, पर जब शरीर बहुत ज़्यादा भारी काम करता है तो मांसपेशियों को आराम नहीं मिल पता और यह संकुचन और भी अधिक बढ़ जाता है मांसपेशियों में होने वाला यह दर्द मसल फ़ीवर यानि मांसपेशियों का ज़्वर के नाम से भी जाना जाता है। इसे DOMS (Delayed Onset Muscle Soreness) भी कहते हैं।

शरीर में किसी भी प्रकार का दर्द वास्तव में बहुत परेशानी भरा होता है जिसमें आप किसी भी चीज़ का सही तरीके से आनंद नहीं ले पाते और मानपेशियों में होने वाले इस दर्द को आप चाह कर भी अनदेखा नहीं कर पाते, पर फिर भी आपको कई तरह की शारीरिक गतिविधियों से रोज़ाना गुज़रना ही होता है इसके अलावा शरीर को तंदरुस्त रखने के लिए जिम (gym) जाना और 100 मीटर तक पैदल चलना भी आपके लिए ज़रूरी है।

इस सभी कामों को करते वक़्त आपको शरीर की मांसपेशियों में दर्द का सामना करना पड़ ही सकता है जो आपके बाकी के कामों को भी प्रभावित करता है, तो आइये जाने इन कि किस प्रकार मांसपेशियों में होने वाले इस दर्द को ठीक किया जाये। मांसपेशियों के दर्द को ठीक करने के लिए घरेलू उपचार काफी असरकारक होते हैं। घर पर ही मांसपेशियों का प्राकृतिक उपचार फायदेमंद और सुरक्षित भी होता है।

Prev post