हकलाना,दांत,जीभ,जबड़ा गले और पेट के रोग सब एक इलाज हैं ये योग आसान!

singhasan yoga benefits in hindi,singhasan yoga in hindi,

singhasan yoga benefits in hindi

or

singhasan ke fayde in hindi

 

singhasan yoga step

  • सबसे पहले दोनों पैर आपस में मिला कर जमीन पर बैठ जाओ.(नीचे चित्र के अनुसार )
  • फिर दोनों पंजो को भी आपस में मिलाओ.
  • अब दोनों एडियो को ऊपर की और उठाओ.
  • अब घुटनो को दोनों तरफ बाएं दांय खोलो और ठोड़ी को कंठकूप से लगाओ.
  • फिर सुविधानुसार मुँह खोलकर जीभ जितनी बहार निकाल सको,निकालो और कमर सीधी रखते हुए दोनों हाथ घुटने पर रखो.
  • तथा निगाहें नीचे जमीन पर लगी रेहगी.
singhasan yoga benefits,singhasan yoga in astrology,singhasan yoga in hindi,singhasan yoga by ramdev
singhasan yoga image

lion pose yoga benefits in hindi

  • इस आसन के अभ्यास द्वारा निर्भयता आती हैं.और डरपोक बच्चो को इसका अभ्यास अवशय करना चाहिए.
  • अखण्ड ब्रहचर्य की सीधी में ये आसन सहायक हैं.
  • मुँह (दांत,जीभ ,और जबड़ा) और गले के रोग दूर होते हैं.आवाज को सपष्ट बनाता हैं.
  • तथा हकलाना दूर होता हैं.
  • इस आसन के अभ्यास द्वारा मेरु दंड में दृढ़ता आती हैं.
  • आमशय,छोटी आंत ,बड़ी आंत ,यकृत ,तिल्ली,गुर्दे आदि की सफाई होती हैं.इनका कार्य ठीक ढंग से चलने लगता हैं.
  • छाती के ऊपर वाले अंग-आँख,कान ,नाक,जीभ ,तालु तथा दांतो आदि को शक्ति मिलती हैं.
  • भोजन और साँस की नाली साफ़ होती हैं.

You may also like