हकलाना,दांत,जीभ,जबड़ा गले और पेट के रोग सब एक इलाज हैं ये योग आसान!

singhasan yoga benefits in hindi

or

singhasan ke fayde in hindi

 

singhasan yoga step

  • सबसे पहले दोनों पैर आपस में मिला कर जमीन पर बैठ जाओ.(नीचे चित्र के अनुसार )
  • फिर दोनों पंजो को भी आपस में मिलाओ.
  • अब दोनों एडियो को ऊपर की और उठाओ.
  • अब घुटनो को दोनों तरफ बाएं दांय खोलो और ठोड़ी को कंठकूप से लगाओ.
  • फिर सुविधानुसार मुँह खोलकर जीभ जितनी बहार निकाल सको,निकालो और कमर सीधी रखते हुए दोनों हाथ घुटने पर रखो.
  • तथा निगाहें नीचे जमीन पर लगी रेहगी.
singhasan yoga benefits,singhasan yoga in astrology,singhasan yoga in hindi,singhasan yoga by ramdev
singhasan yoga image

lion pose yoga benefits in hindi

  • इस आसन के अभ्यास द्वारा निर्भयता आती हैं.और डरपोक बच्चो को इसका अभ्यास अवशय करना चाहिए.
  • अखण्ड ब्रहचर्य की सीधी में ये आसन सहायक हैं.
  • मुँह (दांत,जीभ ,और जबड़ा) और गले के रोग दूर होते हैं.आवाज को सपष्ट बनाता हैं.
  • तथा हकलाना दूर होता हैं.
  • इस आसन के अभ्यास द्वारा मेरु दंड में दृढ़ता आती हैं.
  • आमशय,छोटी आंत ,बड़ी आंत ,यकृत ,तिल्ली,गुर्दे आदि की सफाई होती हैं.इनका कार्य ठीक ढंग से चलने लगता हैं.
  • छाती के ऊपर वाले अंग-आँख,कान ,नाक,जीभ ,तालु तथा दांतो आदि को शक्ति मिलती हैं.
  • भोजन और साँस की नाली साफ़ होती हैं.

loading...