Motapa Kam Karne Ke Desi Totkey – How to reduce Fat

Motapa Kam Karne Ke Liye Gharelu Upchar

जैसा की आप सभी लोग जानते है की मोटापा आज के समय की एक ऐसी बीमारी बन गया है जिसके कारण हर आदमी परेशान है कोई मोटापे को कम करने के लिए परेशान है तो कोई मोटा होने के लिए दोस्तों आज हम आपको motapa kam karne ke desi totkey में एक ऐसा घरेलु तरीका बताएँगे जिससे कुछ ही समय में मोटापे को कम किया जा सकता है|

दोस्तों आज हम आपके लिये लेकर आये है ऐसे तरीके जो आपके मोटापे को या आपके बढ़ते हुए वजन को कम 2 हफ्तों के अन्दर कम कर सकता है motapa kam karne ke liye gharelu upchar में हम आपको उन तरीको के बारे में बताएँगे दोस्तों मोटापा बढने का मुख्य कारण हमारा खानपान होता है यदि हम अपने खानपान को ठीक कर के उसमे कुछ ऐसी चीजों को जोड़ ले जो हमारे शरीर को स्लिम रकने में मदद करती है तो जायज सी बात है की हम मोटापे से निजात पा सकते है दोस्तों आईये जानते है कोन सी है बो चीजे.

आज के समय में पेट के चर्बी ,मोटापा, या फिर यूँ कहे तो वजन बढ़ जाने की समस्या को लेकर के सभी परेसान है इस समस्या का समाधान करने के लिए दोस्तों आज हम आपको वजन कम करने के घरेलु नुस्खे के बारे में बताएँगे जिसके रिजल्ट्स एक दम चोंका देने बाले होंगे.
अगर आप अपने पेट की चर्बी(how to reduce fat) या शरीर में होने वाली चर्बी का उपाय ढूंढ रहे है|

तो आपको अपना वर्तमान का वजन नापना होगा जिससे आपको पता चल जायेगा की भविष्य में आपका वजन कितना है.
how to reduce fat, fat ki exercise,wjan kaise badhta hai, charvi kaise badh jati hai, charbi khan jama hoti hai, motapa kam karne ke desi totkey ऐसे सवाल लोग पूछते है. हमे पता नहीं चलता पर हम इसका उपाय कर सकते है.

चर्बी को बढाना मेहनत का काम नहीं है पर चर्बी को कम करना मेहनत का काम है. हम इसे कम कर सकते है पर अपने खाने में अधिक तेल का उपाय न करे.

अगर आपको नहीं पता किस समय क्या खाये या किस समय नहीं और pet ko kam karne ki exercise (exercise for fat) तो आप डायटीशियन से भी पूछ सकते है. वेसे तो आप ये सारे उपाय को भी अजमा कर अपने वजन को कम कर सकती है. पर ये उपाय जब तक करे तब तक आपको अपने पेट की चर्बी कम न लगे.

Motapa ke karan in hindi

Motapa ke karan in hindi

अत्यधिक वजन होने के कारण लोग अधिक कैलोरी का उपभोग करते हैं – वसायुक्त भोजन और कैलोरी में उच्च आहार खाने के कारण।
हालांकि कैलोरी का सेवन और कैलोरी जल के बीच असंतुलन, कई विभिन्न मोटापे से संबंधित कारकों जैसे आनुवंशिक, हार्मोनल, व्यवहार, पर्यावरण और कुछ हद तक सांस्कृतिक कारणों से भी हो सकता है.

ऐसे कई अन्य कारण हैं. जिनके कारण मोटापा होता हैं जैसे गर्भावस्था, ट्यूमर और अंतःस्रावी विकार और दवाएं शामिल हैं. जिनमें मनोवैज्ञानिक दवाएं, एस्ट्रोजेन, कॉर्टिकोस्टेरॉइड और इंसुलिन शामिल हैं।

Motapa kam karne ke desi totkey

pet kam karne ke gharelu tarike में हम एक ऐसी च्ये के बारे में जीकर करेंगे जो न की हमें स्वाद देने का काम करती है बल्कि हमारे बजन को भी कम करती है इस चाये को किस तरहे से बनाया जाता है और इसमें कौन कौन सी सामग्री की आवश्यकता होती है इसको बनाने के लिए जिन चीजो की जरुरत होती है अधितर वो हमारे किचेन में ही मौजूद मिल जाती है.

यह सोच कर हैरान होंगे की चाये भी motapa kam karne ke desi totkey में काम आती है जी हाँ दोस्तों ,तो अब हम बात करेंगे की इस चाये को बनाने के लिए कौन सी चीजो की जरुरत होगी आइये जानते है सबसे पहले एक चम्मच जीरा ,एक चम्मच साबुत धनिया ,एक चम्मच सौंफ ,दो स्लाइस अदरक,एक चम्मच काली मिर्च के दाने ,पांच से छ: लौंग ,दो इंच दालचीनी का टुकडा और एक लीटर पानी .की जरुरत होती है.

वजन को कम करने वाली चाये को बनाने के weigth loss karne ke gharelu nuskhe in hindi लिए सभी सामग्री को लेकर के पानी में डाल दें अब इस सामग्री मिक्स पानी को अच्छी तरहे से उबाल लें उबलता हुआ पानी जब आधा रहे जाए तब इसको एक साफ़ बर्तन लेकर के ढककर के सुरक्छित स्थान पर रख दे|

Motapa Kaise Kam Kare Tips

Motapa Kaise Kam Kare Tips

बनी हुई चाये को छान कर के रखले इस चाये को दिन में तीन बार नियामित तरह से पीने पर मोटापा कम होने लगता है यहे motapa kam karne ke desi totkey में मोटापा कम करने का सबसे बेहतरीन और सबसे सरल घरेलु उपाए है इस चाये को पिने से तेजी के साथ मोटापा कम होने लगता है.

यदि पेट को की चर्बी को जल्दी से जल्दी कम करना है तो इसके लिए आपको तला,गला जैसे घी ,तेल में छोंका हुआ ,भुना हुआ ,पूड़ी,आदि तली हुई चीजो का सेवन बंद करना पडेगा यदि इच्छा चलती है तो हफ्ते में एक बार लिया जा सकता है
इसके साथ साथ सुबह और शाम को टहेलने के लिए जाए जिससे आप के शारीर को अधिक तेजी से फायदा पहुंचा सकता है पेट को कम करने का उपाए सबसे कारगर है.

दोस्तों चीनी का जयदा सेवन करते है तो इसके स्थान पर शहद का प्रयोग कर सकते है motapa kam karne ke liye tips in hindi में कम से कम 6 – 7 घंटे की नींद ले नींद से उठने के बाद सुबह को उबले हुए नीम्बू के पानी को पिने से मोटापे में जल्दी से कमी लायी जा सकती है इसके अलावा जंक फ़ूड को खाने से पूरी तरहे से बंद कर दें इसक प्रकार हम अपने मोटापे को कम करने में कामयाब हो सकते है|
तेल और तला हुआ भोजन, प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ, वसायुक्त खाद्य पदार्थ जैसे कि मक्खन, शुद्ध मक्खन, पनीर, दही-दही दही, क्रीम, चॉकलेट आदि से बचें।पॉलिश चावल और आलू जैसे उच्च कार्बोहाइड्रेट चीजो से बचें। अधिक कड़वा सब्जियां जैसे कड़वी और क्रीमयुक्त ड्रमस्टिक्स। फल, सलाद और सब्जियों का सेवन बढ़ाएं.

Motapa kam karne ke tarike

Haldi se kare motape ko kam

यादी आपका पेट अभी भी काबू में नही आता है तो इसके लिए हमारे पास मोटापा कम करने के तरीके बहुत से है ये जो तरिका है, motapa kam karne ke desi totkey, इसको अपना कर के आप हमेशा के लिए मोटापे की समस्या से छुटकारा पा सकते है इसके लिए आपको अपनी किचेन में मौजूद कुछ चीजों का प्रयोग करना होगा जिसमे सबसे पहेली चीज है|

Haldi se Kare motape ko kam

 

हल्दी बैसे तो चोट या सुजन को कम करने के काम आती है लेकिन हल्दी भी हमारे शारीर के मेटाबोलिज्म को कम करने में मद्दद करती है जिससे हमारे शारीर का मोटापा नियंत्रित रहेता है इसलिए हमें रोज सब्जी में हल्दी का प्रयोग करना चाहिये|

Kalonji se kare pet ki charwi ko kam

Kalonji se kare pet ki charwi ko kam

कलोंजी एक ऐसी औषदी है जिसमे भूख को रोकने की एक अचूक सी तागत होती है इसका सेवन करने से हमें कम भूख लगती है तथा यहे हमारे कमर ककी चर्बी को घटाने में भी मद्दद करता है|

Elaichi se hoga motapa kam

Elaichi se hoga motapa kam

इलायेची में सिनोइले नाम का एक ऐसा तत्व पाया जता है जो हमारे शरीर के मेताबोलिज्म को रोकने की प्रक्रिया को इतनी जल्दी से कण्ट्रोल कर लेता है जिसके कारण शारीर का मोटापा जल्दी से जल्दी घटने लगता है|

Digestive System ko kaise thik kare

Digestive System ko kaise thik kare

अगर कुछ खाने के बाद पाचन खराब हो जाता है तो Digestion ko sahi karne ke gharelu upay आपको अपने खानपान का ख्याल रखना होगा|अगर जब भी लगे पाचन खराब है तो एक गिलास गरम पानी करे और इसमें अजवाइन और निम्बू डाल कर पी ले इससे आपको पाचन में फायदा मिलेगा|

Green Tea or Lemon Juice Kare Motapa Dur

Green Tea or Lemon Juice Kare Motapa Dur

सुबह दूध, शेक और कॉफ़ी की वजाय ग्रीन टी ले:-

. ग्रीन टी को अदरक के साथ उबाले और छान लेने के बाद इसमें शहद और आधा निम्बू निम्बू का रस मिलके एक गिलास पियें|

. पीने के बाद morning walk पर जाये, कम से कम 2-4 किलोमीटर तेजी से चले|

. रात को भोजन के बाद भी धीमी गति से 1 किलोमीटर walk करे|

. पूरे 8 घंटे की नींद ले|

. दिन भर 2 या 3 बार गरम पानी में निम्बू का रस डालकर पीते रहीये|

Pet me jami gandagi ko bhar kare

ज्यादा oily food खाने से या मैदा वाला खाना खाने से पेट में गन्दगी जम जाती है| उस गन्दगी को निकलने के लिए हमे गरम पानी के साथ निम्बू निचोड़ कर पीना चाहिये|

दोस्तों इसके अलावा जीरा ,सौंफ ,दालचीनी ,भी ऐसे मसाले है जिनसे हमारे शारीर का वजन घट जाता है और मोटापा धीरे धीरे कम होने लगता है. ये वस्तुए वजन को कम करने का आसन तरिका है|

इसके आलावा हम लंच डिनर में ज्यादा खाने से बचे और दिन में जब भी भोक लगे तो थोडा थोडा चार या पांच बार में खाए pet kam kaise kare tips in hindi के लिए रोज सुबह को 30 मिनट टहले चाय की जगहे पर ग्रीन काफी का इस्तेमाल भी आपको फायदा पंहुचा सकता है|

Motapa Kam Karne Ki Vidhi- Weight Loss in Hindi

Motapa Kam Karne Ki Vidhi

1.  हम सबसे बड़ी गलती ये करे है की दिन का खाना हल्का और रात का खाना भर पेट खा लेते है
पर ये तरीका गलत है. आपको दिन का खाना अच्छे से करना चहिये पर रात का खाना बहुत हल्का करना चहिये.
रात के खाने में तेल का प्रयोग बिलकुल न करे और अगर हो सके तो रात में फ्रूट खाकर सोये.
अगर आप थोडा हैवी खाना चाहते तो खाने के बाद वाक पर जाये इससे आपका पाचन भी सही रहेगा.

2. सुबह उठते से ही एक गिलास जूस का सेबन करे और ब्रेक फ़ास्ट करना न भूले क्यूंकि ज्यादातर लोग चर्बी को कम करने के वजय से ब्रेकफास्ट नहीं करते है.

3. जब भी खाना खायें तो उसके आधे घंटे के अन्तराल में पानी पीये और पानी थोडा गुनगुना ही पीये इससे आपके पेट में चर्बी कम होगी और बढने नहीं देगी|फिर आपको फट बर्न एक्सरसाइज करने की ज्यादा जरुरत नही है.

4. हर रोज़ सुबह pet kam karne ka yoga और 5-6 लीटर पानी पीये और दिन में छाछ भी पी सकते है.

5. मैदा वाली ब्रेड और चाबल की बजाय ब्राउन ब्रेड और ब्राउन चाबल खाए इससे आपको मोटापा नहीं होगा.

6. अंकुरित की हुई चने, मूंगदाल, सोयाबीन खाने से शरीर में ताकत आती है और चर्बी को कम करने में मदद करता है.

7. टकसाल चाय पीना या हरे रंग की टकसाली को कुछ सरल मसालों के साथ बनाना और भोजन के दौरान खाय।

8. मोटापा को नियंत्रित करने के लिए करेला और ड्रमस्टिक्स जैसे सब्जियां खाएं।
गर्म पानी के साथ दैनिक शहद का एक बड़ा चमचा लें। यह मोटापे के लिए एक उत्कृष्ट घरेलू उपाय है.

9. एक चम्मच ताजा शहद ले लो और गुनगुने पानी के गिलास में आधा चमच रस के साथ मिश्रण करें। नियमित अंतराल पर एक दिन में दो बार लें।

आप ऊर्जा के नुकसान के बिना दिन के दौरान इस पेय की मदद से उपवास कर सकते हैं। जो अति मोटापा में प्रभावी हैं
चर्बी कम कैसे करे:

. धुम्रपान, तंबाकू का सेवन न करे
. फ़ास्ट फ़ूड जैसे बर्गर,पिज़्ज़ा,केक खाना बंद कर दे
. ज्यादा घी और तेल
. मिठाईयां

चर्बी कम करने की दबा:
. पेट की चर्बी का सबसे और सरल तरीका- एक गिलास गुनगुना पानी में सेहद डालकर रोज़ सुबह उठते से ही पीये फिर आप फ्रेश होयें
. एक पानी की बोतल अपने पास हमेशा रखे इससे आप पानी ज्यादा पीयेंगे.

Motape se hone wali bimari

Motape se hone wali bimari

दोस्तों मोटापा हमारे शरीर में कमर दर्द ,ब्लडप्रेशर ,घुटनों का दर्द ,दिल की बिमारियों को भी दावत देता है weight loss karne ke gharelu nuskhe in hindi के लिए हमें अपने खाने की प्रक्रिया में कुछ चेंज करना पड़ेगा इसमें सुबह को चाय,दूध का एक बार ही सेवन करे उसके बाद दिन में पानी से ही काम चलाये

Motapa kam karne ke Ayurvedic ilaz

आयुर्वेद में, मोटापे को मेडारोग के रूप में जाना जाता है, जो कफ की उत्तेजना के कारण होता है। कफ एक आयुर्वेदिक हास्य है जो प्रकृति में घने, भारी, धीमी गति से, चिपचिपा, गीला और ठंडा है।

यह सभी सात ऊतकों – पौष्टिक तरल पदार्थ, रक्त, वसा, मांसपेशियों, हड्डियों, मज्जा और प्रजनन के ऊतकों को नियंत्रित करने के अलावा वजन और नियंत्रण के अलावा मन और शरीर में सभी संरचना और स्नेहन को नियंत्रित करता है।

संतुलित राज्य में, कफा विभिन्न सूक्ष्म चैनलों के माध्यम से इन ऊतकों को पोषण प्रदान करता है।

हालांकि, जब यह बढ़ जाता है, कफ शरीर में विषाक्त पदार्थों का उत्पादन करता है। ये विषाक्त पदार्थ प्रकृति में भारी और घने हैं और शरीर के कमजोर चैनलों में जमा होते हैं, जिससे उनमे रुकावट पैदा हो जाती हैं।

एक मोटापे से ग्रस्त व्यक्ति के मामले में, मैड्रायवी सरोत्स (वसायुक्त चैनल) में विषाक्त पदार्थ जमा होते हैं, जिससे वसा के ऊतक (मेदा धातू) के उत्पादन में वृद्धि होती है। जब शरीर अधिक वसा के ऊतकों का उत्पादन करता है, तो यह वजन में वृद्धि का कारण बनता है.
मोटापा के लिए उपचार की आयुर्वेदिक रेखा कफ दोशा के शांतता से शुरू होती है। यह कफ से बढ़ने वाले खाद्य पदार्थों को आहार से नष्ट करने के द्वारा किया जा सकता है।

इसके बाद, उपचार भी मेडिवाइ चैनलों को शुद्ध करने वाले जड़ी बूटियों के माध्यम से शुद्ध करने पर केंद्रित होता है ताकि अतिरिक्त वजन कम किया जा सके।

Source:-
curetick.com

जाने ऐसे ही कुछ असरदार नुस्खो के बारे में:-

लौंग के फ़ायदे और नुकसान – clove benefits and side effects 

Eating Banana Benefits – केले खाने के फ़ायदे और नुकसान

You may also like